Now Reading
स्वस्थ आदतों को शामिल करें अपने रूटीन में

स्वस्थ आदतों को शामिल करें अपने रूटीन में

स्वस्थ आदतों को शामिल करें अपने रूटीन में

दिन की अच्छी शुरुआत और पूरे दिन एनर्जेटिक और हेल्दी रहने के लिये ज़रूरी है कि हम अपनी दिनचर्या यानी डेली रूटीन में कुछ अच्छी आदतों को शामिल करें और बिना भूले रोज़ उसे फॉलो भी करें। किसी चीज़ का फायदा तभी होता है, जब उसे लगातार किया जाये, तो किन हेल्दी हैबिट्स को अपनी डेली रूटीन में शामिल करके आप खुशहाल और स्वस्थ रह सकते हैं, आइये जानते हैं –

नींद पूरी करना

शरीर और मन को रिलैक्स करने के लिये सात से आठ की नींद बहुत ज़रूरी है। जब आपकी नींद पूरी हो जाती है, तो आपको पूरे दिन के काम के तनाव, घर की परेशानियों और चिंताओं से मुक्ति मिल जाती हैं और आप पूरी एनर्जी के साथ नये दिन के लिये तैयार हो जाते हैं। वैसे भी आजकल के लाइफस्टाइल में जहां स्ट्रैस बिन बुलाये मेहमान की तरह आ ही जाता है, उससे बचने के लिये अच्छी नींद बेहद ज़रूरी है। रोज़ाना अपने सोने का टाइम फिक्स कर लें और सुबह उठने का भी।

प्रोबायोटिक है ज़रूरी

दरअसल, हमारी आंत बीमारियों से बचाने में महत्वूपर्ण भूमिका निभाती है और आंत को हेल्दी रखने के लिये प्रोबायोटिक की ज़रूरत होती है। यह कुछ खास तरह के खाद्य पदार्थों में मिलते हैं, जो आंत में बैक्टीरिया का संतुलन बनाये रखती हैं। अपनी डाइट में दही को ज़रूर शामिल करें क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में प्रोबायोटिक होता है। इसके अलावा आंत को हेल्दी रखने के लिए प्रोसेस्ड फूड से दूर रहें, हेल्दी फूड खायें, बहुत ज़्यादा सैनिटाइज़र का इस्तेमाल न करें, तनाव से दूर रहें और नींद पूरी करना भी ज़रूरी हैं।

स्वस्थ आदतों को शामिल करें अपने रूटीन में
खुद का रखें ख्याल  | इमेज : फाइल इमेज

टाइम पर खाना

हर दिन टाइम पर सोने के साथ ही खाना भी समय पर खाना बहुत ज़रूरी है। समय पर नहीं खाने से गैस और पाचन संबंधी समस्या हो सकती है। ब्रेकफास्ट हमेशा हैवी और हेल्दी करना चाहिये। इससे आप पूरे दिन एनर्जेटिक रहते हैं। साथ ही खाते समय ज़्यादा पानी न पिएं, खाने के आधे घंटे बाद पानी पीना चाहिये।

खाते समय गैजेट्स से दूर रहें

खाना खाते समय, मोबाइल या लैपटॉप से दूर रहें। सिर्फ खाने पर फोकस करें, इसे माइडफुल ईटिंग कहते हैं। इससे आपको खाने का टेस्ट पता चलेगा और यह भी आप कितना खा रहे हैं। मोबाइल देखते-देखते खाने पर कई बार ज़रूरत से ज़्यादा खाया जाता है और इससे बाद में पेट में परेशानी रहने लगती है।

वॉकिंग

चलना बहुत ज़रूरी है, तो रोज़ाना सुबह या शाम जब भी वक्त मिले चलने की आदत को अपने रूटीन में शामिल कर लीजिये। हो सके तो सुबह थोड़ा जल्दी उठकर मॉर्निंग वॉक के लिए निकल जायें। सुबह की सुहानी ठंडी हवा में चलने पर आप बिल्कुल तरोताज़ा हो जायेंगे।

बस इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर आप अपनी स्वस्थ और खुश रह सकते हैं।

और भी पढ़े: गाना गाकर सिखाती है बच्चों को इंग्लिश

अब आप हमारे साथ फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पर भी जुड़िये।

What's Your Reaction?
आपकी प्रतिक्रिया?
Inspired
0
Loved it
0
Happy
0
Not Sure
0
प्रेरणात्मक
0
बहुत अच्छा
0
खुश
0
पता नहीं
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

©2019 ThinkRight.me. All Rights Reserved.